विरेन्द्र सहवाग के 219 –  खेल

ankafig.20.1

भारत की टीम का कप्तान – विरेन्द्र सहवाग

ठाकुर रघुवीर सिंह जी दीवाली के अवसर पर एक स्मार्ट टी वी घर लाए ।  परिवार के सब सदस्यों को समझिए कि उस से बिल्कुल प्यार हो गया । उनकी बहू भागी को यह टी वी इस लिए अच्छा लगा क्यों कि वह  अपनी पसंद के प्रोग्राम रिकार्ड कर सकती थी । गुरुवार दिसम्बर 8, 2011 को भारत और वैस्ट इन्डीज़ के बीच एक वन डे इनिंग (ओ डी आई) क्रिकेट मैच खेला जाने वाला था । भागी को वैस्ट इन्डीज़ के खिलाड़ियों की तीव्र गति वाली गेंदबाज़ी और भारती बल्लेबाज़ों का उसको जवाब, दोनो बहुत पसंद थे । सोने पर सुहागे वाली बात थी कि भारत की टीम का कप्तान उसका सर्वप्रिय खिलाड़ी था – विरेन्द्र सहवाग । उसने पूरे खेल को रिकार्ड करने का निर्णय कर लिया ।

भागी ने मैच देखा । कप्तान की ऐतिहासिक बल्लेबाज़ी ने भारत की टीम को जिता दिया । बच्चों को भी इसके बारे में पता था । मांजी ने कहा, “तानिया, मैंने इस खेल को स्मार्ट टी वी पर रिकार्ड किया था । रविवार को तू अपने मित्रों के साथ इसे देख सकती है ।” तानिया खुशी से कूद उठी ।

निमंत्रित मित्र टिन्कू, केतली और पुरु रविवार को तानिया के  घर आ गए । भारत की टीम का कप्तान विरेन्द्र सहवाग  टास जीत गया था और इस  टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करने का निर्णय कर लिया था । भागी ने टी वी चला दिया ।

रिकार्ड की हुई खेल को देखा

विरेन्द्र सहवाग और गम्भीर ने बल्लेबाज़ी आरंभ की । टिन्कू ने हर बल्लेबाज़ की रनों का व्यौरा लिखना शुरू कर दिया और तानिया ने सामूहिक टीम का । उन्होंने प्रत्येक रन को लिखा, चाहे भाग कर बनाई ग़ई हों, बाउंडरी के चौके या सीधे बाउंडरी के पार जाने के छिक्के से । गम्भीर 67 रन बनाकर अचानक आउट हो गया । इस समय के सहवाग के 101 रन थे ।

केतली: स्कोर बोर्ड 176 रन दिखा रहा है । गम्भीर के 67 और सहवाग के 101 रन मिला कर तो केवल 168 बनते हैं । बाकी के 8 रन कहां से आ​ए, तानिया ?

तानिया: 8 एक्स्ट्रा रन खराब गेंदबाज़ी के हैं, एक्स्ट्रा रन टीम को मिलते हैं, खिलाड़ियों को नहीं । तो गम्भीर के 67, सहवाग के 101 और 8 एक्स्ट्रा का योग है 176  ।

केतली: धन्यवाद, देखो अब रैना बल्लेबाज़ी के लिए आ गया है ।

टिन्कू और तानिया हिसाब रखते रहे । चारों मित्र खुश थे की सहवाग और रैना अच्छा खेल रहे थे पर थोड़ा सा निराश हुए जब रैना आउट हो गया ।

क्या सहवाग डबल सैंचरी बना पाएगा ?

टिन्कू; पता है, रैना के आने के बाद सहवाग ने बड़े चौके और छिक्के मार कर 81 रन बना लिए हैं । पहले से 101और यह 81 मिला कर 182 रन हो ग​ए हैं । जल्द ही वह डबल सैंचरी बना सकता है । टी वी पर कह रहे थे कि सचिन तंदूल्कर पहला खिलाड़ी था जिसने ओ डी आई में डबल सैंचरी बनाई थी । सहवाग के 182 रन हैं, 18 और बनाकर वह इस रिकार्ड को तोड़ देगा । रैना भी अच्छा खेला था,  55 रन बना गया ।

तानिया: हां, इस भाजीदारी में सहवाग के 81, रैना के 55, और 4 एक्स्ट्रा मिला कर कुल १40 रन थे । सहवाग और गम्भीर की भाजीदारी के 176 मिला कर्, भारत के 316 रन बन चुके हैं ।

कुछ और बल्लेबाज़ भी आए और ग​ए पर सहवाग अटल रहा । वह 219 रन का नया रिकार्ड कायम करके आउट हुआ । इसके बाद भी खेल 50 ओवर पूरे होने तक चलता रहा । अंत में भारत के केवल 5 खिलाड़ी आउट हुए और 418 रन बनी ।

केतली: वाह भाई वाह, मैं तो सहवाग से प्रभावित हूं ।

पुरु: सहवाग ने सात छक्के मारे और किसी और ने एक भी नहीं । सिर्फ़ छक्कों में उसके कितने रन हो गए ?

प्रतिशत (%)

तानिया: सात गुणा छह बयालीस होता है । उसने दो और प्रभावशाली काम किए । पहला कि उसने सचिन के 200 रन का रिकार्ड 19 रन से तोड़ दिया । यह रिकार्ड अब पता नहीं कितने सालों तक कायम रहेगा (सन 2014 में रोहित शर्मा ने 269 का नया रिकार्ड बनाया) ।  दूसरा कि उसने अपनी टीम के 50% से अधिक रन बनाए । उसके 219 रन टीम के 418 रन के 52.4 % थे ।

टिन्कू: पता है कि उसके 25 चौकों के 100 रन और 7 छिक्कों के 42 रन मिला कर 142 होते हैं । कुल 219 में से अगर यह 142 रन घटा दें, तो बाकी 77 रन बनते हैं जो सिंगल या डबल में थे । उसके केवल 35% रन सिंगल या डबल में थे बाकी 65% चौकों और छिक्कों मे । काश मैं भी ऐसा कर सकता ।

भारत की टीम बल्लेबाज़ी कर चुकी थी और वैस्ट इन्डीज़ की टीम तैयार हो रही थी । चीयरलीडर मैदान मे आ गईं ।

तानिया: इन नाचने वाली लड़कियों को खेल के मध्य में क्यों ले आते हैं ?

केतली: इन लड़कियों को नाच करना अच्छा लगता है और लोग उनके प्रदर्शन को पसंद करते हैं । चीयरलीडर्ज़ को अच्छे खासे पैसे भी मिलते हैं । लगता है कि तू अब माडल्ज़ और अभिनेत्रिओं का भी विरोध करेगी ।

अब भारत के खिलाड़ी मैदान में आ कर अपने अपने स्थानो पर खड़े हो ग​ए ताकि वैस्ट इन्डीज़ की टीम अपनी बल्लेबाज़ी कर सके । सारे खिलाड़ी 265 रन बनाकर 49.2 ओवरों मे आउट हो ग​ए । इस तरह भारत 153 (418 कम  265 ) रन से जीत गया ।

टिन्कू भागी के पास गया और बोला: आंटीजी इस रिकार्डिंग को अभी नहीं मिटाना । मैं कल आऊंगा और हम इसका विश्लेषण करेंगे । भागी इस शर्त पर मान गई कि बच्चे कुछ जलपान करने के बाद ही घर जाएंगे । यह शर्त टिन्कू को बहुत भाई ।

चुनौती और उत्तर

वैस्ट इन्डीज़ के लिए सिमोन और पावैल ने बल्लेबाज़ी शुरू की । नीचे लिखी भाजीदारी की रन संख्या से टीम की कुल रन संख्या निकालो ।

सिमोन और पावैल की भाजीदारी रन संख्या 13 थी जब पावैल आउट हुआ । कुल रन संख्या = 0 + 13=13

सिमोन और सैम्युल की भाजीदारी रन संख्या 50 थी जब सिमोन आउट हुआ । कुल रन संख्या = 50 + 13=63

हय्यात और सैम्युल की भाजीदारी रन संख्या 18 थी जब सैम्युल आउट हुआ । कुल रन संख्या = 18 + 63=81

हय्यात और रामदीन की भाजीदारी रन संख्या 9 थी जब हय्यात आउट हुआ । कुल रन संख्या = 81 + 9=90

पोल्लार्ड और रामदीन की भाजीदारी रन संख्या 10 थी जब पोल्लार्ड आउट हुआ । कुल रन संख्या = 90 + 10=100

रस्सल और रामदीन की भाजीदारी रन संख्या 40 थी जब रस्सल आउट हुआ । कुल रन संख्या = 100 + 40=140

सैमी और रामदीन की भाजीदारी रन संख्या 5 थी जब सैमी आउट हुआ । कुल रन संख्या = 140 + 5=145

रामपाल और रामदीन की भाजीदारी रन संख्या 23 थी जब रामपाल आउट हुआ । कुल रन संख्या = 145 + 23=168

रोच और रामदीन की भाजीदारी रन संख्या 33 थी जब रोच आउट हुआ । कुल रन संख्या = 168 + 33=201

नरीन और रामदीन की भाजीदारी रन संख्या 64 थी जब रामदीन आउट हुआ । कुल रन संख्या = 201 + 64=265

नरीन नाट आउट रहा । क्या समझ मे आया कि वैस्ट इन्डीज़ का अंतिम स्कोर वही था जो रामदीन के आउट होने पर था? हां

सबसे बड़ी भाजीदारी में कितने रन थे ? 64

यह  भाजीदारी सारी टीम के स्कोर का कितने % थी ? 64 x 100/265 = 24.15%

सहवाग और गम्भीर की भाजीदारी भारत के टीम के स्कोर का कितने % थी ? 176 x 100/418 = 42.1%